टैग

water

  • लद्दाख में पर्यटन बढ़ने से पानी पर संकट

    जुलाई 26, 2017

    भारत के हाइलैंड, लेह शहर में पर्यटकों की बढ़ती संख्या के कारण यहां के सबसे अमूल्य संसाधन जल में कमी हो रही हैं। इसका भूजल पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ा है लेकिन प्रयासों से पता चला है कि अभी सब खत्म नहीं हुआ है।

  • बाढ़ की भारी तबाही के बीच उत्तराखंड में बांधों के निर्माण पर मंत्रालयों में टकराव

    जुलाई 20, 2016

    आपस में मिलकर गंगा का निर्माण करने वाली सभी हिमालयी नदियां इस मानसून में उफान पर हैं। अप‌सर्जित बांधों के कारण तीव्र बाढ़ की स्थिति और विकराल होती जा रही है। इन सबके बावजूद कुछ मंत्रालय अब भी बांधों का निर्माण चाहते हैं।

  • भारतीय वैज्ञानिकों ने ईजाद किया कीमत वाला आर्सेनिक जल फिल्टर

    जनवरी 22, 2016

    भूमिगत जल प्रदूषण की बढ़ती समस्या से निजात पाने के लिए आईआईटी मद्रास के वैज्ञानिकों ने नैनोटैक्नोलॉजी का उपयोग करते हुए एक असरकारी और कम कीमत वाला आर्सेनिक फिल्टर विकसित किया है।

  • गंगा-यमुना का कायाकल्प अभी दूर की कौड़ी है

    जुलाई 17, 2014

    देश की दो प्रमुख नदियों गंगा और यमुना की सफाई की बारे में बहुत जोर-शोर से चर्चा हो रही है। बेहद प्रदूषित इन दोनों नदियों के दिन बहुरने की क्या उम्मीदें हैं, इस पर यमुना जिये अभियान के संयोजक मनोज मिश्र का विश्लेषण।

  • हवा का यह स्पंदन “इक्विनो” शायद सूखे से राहत दिला जाए

    जुलाई 17, 2014

    हाल ही में खोजी गई हिंद महासागर में होने वाली एक बड़ी वायुमंडलीय घटना इक्विनो, में क्षमता है कि यह अल नीनो के कारण मॉनसून को होने वाली क्षति की भरपाई कर दे. अल नीनो के साल को सूखे वाला साल माना जाता है लेकिन कई बार ऐसा हुआ कि अल नीनो के प्रभाव वाला साल सूखाग्रस्त नहीं रहा. आखिर ऐसा क्यों होता है, इक्विनो की खोज के बाद साफ होने लगा है.

  • तीस्ता संधि पर नई दिल्ली के भरोसे से बांग्लादेश आशान्वित

    जून 28, 2014

    ढाका में सुषमा स्वराज ने कहा कि बांग्लादेश से जुड़े कई मुद्दे अभी अनसुलझे हैं, जो मेरे संज्ञान में हैं। तीस्ता नदी के जल बंटवारे का मुद्दा भी उनमें से एक है।

  • Talking about the Yarlung Zangbo

    नवम्बर 17, 2011

    Half-truths, fear and suspicion fuel the debate over south Asia’s shared waters. But journalists can help open up the conversation, writes Beth Walker, cheered by a media workshop in Kathmandu.

  • Bangladesh Institute of Peace and Security Studies

    सितम्बर 23, 2011

    The Bangladesh Institute of Peace and Security Studies has launched a major research project on water scarcity in Bangladesh and South Asia. The project will promote information-sharing on water between Bangladesh, India and Nepal and is supported by the Norwegian government.

  • Aman ki Asha

    सितम्बर 23, 2011

    Aman ki Asha is a campaign for peace between India and Pakistan, jointly initiated by the Jang Group of Pakistan and The Times of India Group. They have focused on water issues in the past.